क्रिकेट के बारे में ३ अमेजिंग फैक्ट्स।

दोस्तों जैसा कि हमने पिछली पोस्ट में बात की थी कि क्रिकेट के ऐसे कौन से तथ्य हैं जो केवल क्रिकेट खेलने वाले ही नहीं जानते हैं, तो उस पोस्ट में हमने क्रिकेट के कुछ तथ्यों के बारे में बात की थी लेकिन आज हम क्रिकेट में हैं। हम क्रिकेट से जुड़े कुछ ऐसे ही फैक्ट्स के बारे में बात करने जा रहे हैं जो आप नहीं जानते हैं और अगर आप जानते भी हैं तो जिस तरह से मैं आपको बताने जा रहा हूं उस तरह से शायद आप क्रिकेट के फैक्ट्स को नहीं जानते होंगे। क्योंकि यहां हम क्रिकेट के आश्चर्यजनक तथ्यों के साथ-साथ यह भी बताएंगे कि उन तथ्यों में क्या खास है जो क्रिकेट के आश्चर्यजनक तथ्यों से जुड़े हैं।
तो आइए जानते हैं क्रिकेट से जुड़े कुछ तथ्य

क्रिकेट के 3 अमेजिंग फैक्ट्स।

दुनिया के सबसे प्रसिद्ध खेलो में क्रिकेट का स्थान।

क्रिकेट को वैसे तो सारी दुनिया में जाना जाता है हालाँकि कुछ देश ऐसे भी है जहा पर क्रिकेट की लोकप्रियता कुछ ज्यादा ही है लेकिन कुछ देश ऐसे भी है जहा पर क्रिकेट को बिलकुल भी नहीं खेला जाता है। लेकिन इसके बावजूद भी क्रिकेट को दुनिया भर में खेले जाने वाले खेलो में भी दूसरा स्थान प्राप्त है। मतलब की दुनिया में सबसे ज्यादा पॉपुलर खेलो में क्रिकेट दूसरे नंबर पर आता है। जो की क्रिकेट के फेन्स के लिए काफी बड़ी बात है क्युकी दुनिया भर के अलावा भारत में क्रिकेट के सबसे ज्यादा फेन्स देखने को मिलते है। क्रिकेट दुनिया का दूसरा सबसे लोकप्रिय खेल है , मतलब की दुनिया भर में क्रिकेट को प्रसिद्धि के हिसाब से दूसरे थान पर रखा गया है।

क्रिकेट के विकेटों में मूल रूप से केवल दो स्टंप थे।

जब क्रिकेट की शुरुआत हुई थी, तब क्रिकेट की बेल्स में केवल दो स्टंप का इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन 1775 में इंग्लिश क्रिकेटर एडवर्ड ‘लम्पी’ स्टीवंस ने बिना बेल निकाले ही गेंद को दो स्टंप के बीच तीन बार फेंका लेकिन बल्लेबाज को ‘नॉट आउट’ दिया गया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि गेंद स्टंप को नहीं छू रही थी। तब से अब तक क्रिकेट में तीन स्टंप का इस्तेमाल हो चुका है, जो क्रिकेट में नॉट आउट के नियम को थोड़ा अलग बनाता है।

विकेट बेल्स का संबंध क्रिकेट से है।

शुरुआत में जब क्रिकेट एक नया खेल था, उस समय क्रिकेट के विकेट पर विकेट की बेल नहीं होती थी, यहां तक ​​कि जब अंतरराष्ट्रीय मैच होते थे तब भी क्रिकेट में विकेट बेल्स का इस्तेमाल नहीं होता था। और वर्तमान समय में भी परिस्थितियों के अनुसार विकेट की बेल को बदला जा सकता है। उदाहरण के लिए यदि ऐसी जगह पर क्रिकेट खेला जा रहा हो जहां तेज हवाएं चल रही हों, तो उस जगह पर घंटियां बजने की संभावना हो, तो ऐसी जगह पर क्रिकेट में इस्तेमाल होने वाले विकेट बेल्स को बदलकर भरे हुए विकेट बेल्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। . यह भी किया जाता है जिसके साथ अंपायर के निर्णय के अनुसार चयन किया जाता है।

निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट में हमने ये जाना है की क्रिकेट से जुड़े हुए ऐसे कौन कौनसे फैक्ट्स है जो की हमे जानने जरुरी है। उम्मीद है की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी। हम आपको क्रिकेट से जुडी हुई इस प्रकार की जानकारी देते रहेंगे तो आप हमारी इसी वेबसाइट के होमपेज में जाकर ऐसे बहुत सारे फैक्ट्स को जान सकते हो जो की क्रिकेट से जुड़े हुई है और साथ में काफी मजेदार भी है उम्मीद है आपको इस तरह की जानकारी अच्छी लगी होगी।

Leave a Comment